बिहार में बंपर बहाली, 12वीं पास भी बन सकेंगे सिपाही, वेतन 53000

पटना : नए साल में नौकरी की सोच रहे हैं तो सरकार आपको एक बड़ा मौका दे रही है। वो भी बेहतर वेतन के साथ। खास बात है कि 12वीं पास भी यह सरकारी नौकरी पा सकते हैं। मद्य निषेध, उत्पाद एवं निबंधन विभाग ने सिपाही पदों के लिए भर्ती निकाली है। 19 दिसंबर से आवेदन लिया जा रहा है। आवेदन करने की अंतिम तिथि 19 जनवरी तक तय है। मद्य निषध सिपाही के 365 पदों पर बहाली होनी है। केंद्रीय चयन पर्षद ने इसके लिए विज्ञापन जारी किया है। चयन के लिखित परीक्षा होगी। इस परीक्षा में चयनित अभ्यर्थी को पास करना अनिवार्य है। इसमें सफल होने पर अभ्यर्थी का शारीरिक दक्षता परीक्षा होगी। मद्य निषेध सिपाही का वेतनमान 3 रखा गया है। यानी 21 हजार से लेकर 53 हजार तक। इसमें चयन के लिए राज्य सरकार के मदरसा बोर्ड से जारी मौलवी प्रमाण पत्र या बिहार सरकार के संस्कृत बोर्ड की ओर से जारी प्रमाण पत्र भी मान्य होगा। इच्छुक अभ्यर्थी https://apply-csbc.com/V1/applicationIndex पर आवेदन कर सकते हैं। लिखित परीक्षा में वस्तुनिष्ठ सवाल पूछे जाएंगे। 100 अंकों की परीक्षा होगी, जिसके लिए तीन घंटे का समय मिलेगा।

किस वर्ग के लिए कितनी सीटें
मद्य निषेध सिपाही की 365 सीटों पर बहाली के लिए सबसे अधिक पद सामान्य वर्ग के लिए है। इस वर्ग के लिए 126 सीटें आरक्षित हैं। 20 सीटें आर्थिक रूप से कमजोर पिछड़ों के लिए है। एससी के लिए 88 सीटें, एसटी के लिए 6 सीट, 21 पिछड़ों के लिए है। ईबीसी के लिए 82 सीटें और पिछड़ा वर्ग महिला के लिए 13 सीटें आरक्षित हैं।

राजगीर सफारी के लिए 38 पदों पर बहाली
बिहार कैबिनेट के अपर मुख्य सचिव संजय कुमार ने बताया कि बिहार में ईको-पर्यटन के विकास के लिए फिलहाल नोडल एजेंसी नहीं है। इसके चलते इस क्षेत्र में कई तरह की समस्या हो रही है। ऐसे में पर्यावरण, वन व जलवायु परिवर्तन विभाग के तहत ईको-टूरिज्म संभाग के सृजन की जरूरत महसूस हुई। अब कैबिनेट ने ईको-टूरिज्म संभाग के गठन की मंजूरी दे दी है। इसके तहत विभिन्न कोटि के 224 पदों का सृजन भी होगा। इसी तरह राजगीर नेचर सफारी को देश के शीर्ष ईको-टूरिज्म स्थान में स्थापित करने के उद्देश्य से कई अहम फैसले लिए गए। सफारी के स्थायी व सुचारु संचालन के लिए विभिन्न कोटि के 38 पदों के सृजन और 35 वाहनों की खरीद पर सहमति दी गयी। साथ ही राजगीर जू सफारी को और बेहतर बनाने के लिए 29 पदों के अतिरिक्त सृजन को मंजूरी दी गयी है। यहां पांच वन्यजीव प्रजातियों के लिए अलग-अलग सफारी का निर्माण किया गया है। इसमें शाकाहारी वन्यजीव सफारी, भालू सफारी, तेंदुआ सफारी, बाघ सफारी और शेर सफारी शामिल हैं।

Related Posts

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *